Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe
डाइट प्लानहेल्थ

कई अनोखे फायदे हैं मूंगफली

Read in English

मूंगफली:- मूंगफली तो आपने जरूर खाई होगी. भुनी हुई मूंगफली बहुत ही स्वादिष्ट होती है. मूंगफली खाने से शरीर को ताकत मिलती है। मूंगफली में मौजूद पोषक तत्वों के कारण मूंगफली को घटिया क्वालिटी का माना जाता है। बादाम कहते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं मूंगफली खाने के फायदे कई बीमारियों में (मुंगफली खाने के इंटरेक्शन) फिर मिलते हैं। क्या आप जानते हैं कि मूंगफली का सेवन डायरिया, हृदय रोग, मधुमेह और डायरिया में फायदेमंद होता है।

आयुर्वेद के अनुसार मूंगफली दस्त को रोकता है। मूंगफली के बीज शरीर को स्वस्थ रखते हैं। त्वचा रोग, किडनी और सर्दी-खांसी जैसे रोगों में मूंगफली खाने के फायदे (मुंगफली खाने के इंटरैक्शन) यह एक ऐसी दवा है जो बाजार में आसानी से मिल जाती है, तो आइए जानते हैं कि मूंगफली से आप किन बीमारियों में फायदा उठा सकते हैं।

मूंगफली क्या है?

देश में मूंगफली की कई प्रजातियां पाई जाती हैं। इसे देशी बादाम या चीनी बादाम भी कहा जाता है। इसके पत्ते कसूरी मेथी वे समान हैं, लेकिन दोनों में कुछ अंतर है। मूंगफली के पत्ते मेथी के पत्तों की तुलना में थोड़े बड़े और चमकीले हरे रंग के होते हैं। इसके फूल सुनहरे-पीले रंग के होते हैं। इसके पौधों से फूल महीन रेशों के रूप में निकलते हैं और जमीन में प्रवेश करते हैं और जमीन में ही रेशों से मूंगफली तैयार की जाती है। जिसे पकने के बाद खोदा जाता है।

मूंगफली के तेल में पाए जाने वाले असंतृप्त वसा अम्ल शरीर की लिपिड सामग्री और बॉडी मास इंडेक्स (ऊंचाई-वजन अनुपात) को बनाए रखने में फायदेमंद पाए गए हैं। आइए जानते हैं मूंगफली के फायदे और नुकसान के बारे में

विभिन्न भाषाओं में मूंगफली (मूंगफली) के नाम

मूंगफली का वानस्पतिक नाम अरचिस हाइपोगिया लिनन। (Arachis hypogea) Syn-Arachis nambyquarae Hoehne है और परिवार Fabaceae (Fabaceae) से संबंधित है। देश-विदेश में मूंगफली को इन नामों से भी जाना जाता है:-

मूंगफली में –

  • हिन्दी-मूंगफली, सोयाबीन मूंग, जल्दी
  • अंग्रेज़ी-मूंगफली, मूंगफली, चीनी बादाम, मंकी नट
  • संस्कृत-भुशिम्बी, भुमुद्गा, स्नेहबिजा, मंडपी
  • ओरिया-भुइराचना
  • कोंकणी-मुसोम्बिकन
  • कन्नड़-नेला गुडाली
  • गुजराती-मांडवी, मूंगफली
  • तमिल-नीलक्कदलाई
  • तेलुगु-नीलासनगलु, वेरुशंगलु (वेरुशनगलु)
  • बंगाली-चंदन (बिलैटिमंग);
  • नेपाली-बादाम
  • मराठी-भुई मुगा
  • मलयालम-नेलक्कल
  • मणिपुरी-बादाम

मूंगफली के फायदे और उपयोग

मूंगफली (मूंगफली) खाने के फायदे, औषधीय गुण, मात्रा और उपयोग के तरीके इस प्रकार हैं:-

खांसी और जुकाम से लड़ने में मूंगफली के फायदे

मूंगफली को छीलकर राख कर लें। 1 ग्राम भस्म शहद या फिर इसे गुनगुने पानी के साथ लेने से खांसी-जुकाम में लाभ होता है।

खांसी और जुकाम में मूंगफली के फायदे


हृदय संबंधी विकारों में मूंगफली के फायदे

हृदय विकारों में मूंगफली के तेल का प्रयोग लाभकारी होता है। मूंगफली के तेल के इस्तेमाल के बारे में किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह लें।

हृदय रोग में मूंगफली के फायदे

हृदय रोग में मूंगफली के फायदे

दस्त रोकने के लिए मूंगफली के फायदे

  • पान के पत्तों में मूंगफली के बीज के तेल की 1-2 बूंदें डालने से दस्त और पेट दर्द में आराम मिलता है।
  • काली मिर्च भुनी हुई मूंगफली, पुदीना, नींबू और अदरक इसके साथ मिलाएं। इस चटनी का सेवन पाचन तंत्र के विकारों और पेट के रोगों (मुंगफली खाने के अंतःक्रिया) में लाभकारी होता है।

दस्त की समस्या में मूंगफली के फायदे

दस्त की समस्या में मूंगफली के फायदे


मूंगफली के औषधीय गुणों के साथ मधुमेह को नियंत्रित करने में मूंगफली के फायदे

मधुमेह रोगियों के लिए गेहूं का आटा और मूंगफली के आटे से बनी रोटी ही खानी चाहिए. इससे लाभ होता है।

मधुमेह में मूंगफली के फायदे

मधुमेह में मूंगफली के फायदे


गुर्दा संबंधी विकार में मूंगफली का उपयोग

मूंगफली के तेल के सेवन से गुर्दे के विकार और सूजन की समस्या मुझे फायदा होता है। बेहतर परिणाम के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह जरूर लें।

गुर्दा रोग में मूंगफली (मूंगफली) का उपयोग

गुर्दा रोग में मूंगफली (मूंगफली) का उपयोग


जोड़ों के दर्द के लिए मूंगफली के उपयोग

जोड़ों के दर्द से राहत दिलाएगी मूंगफली (मूंगफली) का मालिश का तेल। इससे जोड़ों का दर्द कम होता है।

गठिया रोग में मूंगफली के फायदे

गठिया रोग में मूंगफली के फायदे


त्वचा रोग के लिए मूंगफली के फायदे

  • मूंगफली का तेल लगाने से दाद, खुजली में लाभ।
  • मूंगफली को भूनकर पाउडर बना लें। इसके पेस्ट को अन्य सामग्री के साथ मिलाएं। इसे त्वचा पर लगाने से त्वचा संबंधी रोगों में लाभ होता है।

त्वचा रोग में मूंगफली के फायदे

त्वचा रोग में मूंगफली के फायदे


शरीर की कमजोरी को दूर करने के लिए मूंगफली का उपयोग

  • मूंगफली के तेल का सेवन करने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है और शरीर को ताकत मिलती है।
  • सर्दी के मौसम में मूंगफली और गुड़ तिल गुड़ खाने से जो खाना बनता है उसे खाने से शरीर को बहुत ही पौष्टिकता (मुंगफली खाने के इंटरेक्शन) मिलती है।
  • मूंगफली, चना और मूंग इसे रात में भिगो दें और सुबह इसका नियमित सेवन करें। इससे शरीर की कमजोरी दूर होती है और ताकत मिलती है। जो लोग अधिक व्यायाम और शारीरिक परिश्रम करते हैं उनके लिए यह उपाय बहुत फायदेमंद है।

शरीर की कमजोरी में मूंगफली के फायदे

शरीर की कमजोरी में मूंगफली के फायदे


मूंगफली का लाभकारी भाग

बीज

मूंगफली का उपयोग कैसे करें?

मूंगफली का इस्तेमाल आप इस तरह कर सकते हैं:-

तेल – 1-2 बूंद

आइए जानते हैं मूंगफली के फायदे और नुकसान (मूंगफली हिंदी मेंइससे जुड़ी सारी जानकारी बहुत ही आसान भाषा में लिखी गई है ताकि आप मूंगफली का पूरा लाभ उठा सकें, लेकिन किसी भी बीमारी के लिए मूंगफली का सेवन या इस्तेमाल करने से पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

मूंगफली साइड इफेक्ट

भुनी हुई मूंगफली का सेवन करने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए। इससे परेशानी (मुंगफली खाने के नुक्सान) हो सकती है।

मूंगफली कहाँ पाई जाती है या उगाई जाती है?

मूंगफली के पौधे के लाभ और दुष्प्रभाव

मूंगफली के पौधे के लाभ और दुष्प्रभाव

मूंगफली की खेती पूरे भारत में की जाती है। यह बाजार में किराना स्टोर पर आसानी से मिल जाता है।

Read in English

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button