Notifications
×
Subscribe
Unsubscribe
हेल्थ

किडनी रोग के उपचार के लिए डाइट चार्ट

Read in English

किडनी रोग के उपचार के लिए डाइट चार्ट, किडनी की कोई भी बीमारी गंभीर होती है। किडनी से जुड़ी कई बीमारियों से लोगों की मौत भी हो सकती है। इसलिए ऐसी बीमारी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। आज कई लोग किडनी से जुड़ी कई तरह की बीमारियों से पीड़ित हैं, और डॉक्टर के बताए अनुसार रोजाना दवाएं ले रहे हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि किडनी की बीमारी के इलाज के दौरान मरीजों के लिए सही डाइट चार्ट भी अपनाना जरूरी है। ऐसा होता है। इसलिए यहां किडनी के मरीजों के लिए डाइट प्लान की जानकारी दी जा रही है।

इस डाइट चार्ट का पालन करने से किडनी के मरीज न केवल बीमारी पर उचित नियंत्रण पा सकेंगे, बल्कि स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त कर सकेंगे।

किडनी रोग के उपचार के लिए डाइट चार्ट

गुर्दे की बीमारी से पीड़ित लोगों का आहार ऐसा होना चाहिए:-

  • दलिया जैसा व्यंजन, गेहूं, चावल
  • धड़कन, मूंग
  • फल और सबजीया, अनार, पपीता, शिमला मिर्च, प्याज, खीरा, टिंडा, नुकीला लौकी, लौकी, तोरई, करेला, कद्दू, मूली, खीरा, कुंदरू, फूलगोभी, शिमला मिर्च
  • अन्य, हल्का खाना, लहसुन, धनिया, पुदीना, जायफल, जतुन तेल, सूरजमुखी का तेल, पतंजलि आरोग्य बिस्कुट

ध्यान दें,

  • 1 कटोरी चावल (बिना मीठा) सप्ताह में केवल 1-2 बार लें
  • आधा चम्मच सेंधा नमक (रोगी के रोग के अनुसार बढ़ाया, घटाया या बंद किया जा सकता है) 24 घंटे में लें।
  • 1 छोटा चम्मच रिफाइंड तेल/सरसों का तेल/मूंगफली 24 घंटे में तेल का सेवन करें
  • 24 घंटे के अंतराल में केवल 1 लीटर तरल (रोगी की बीमारी के अनुसार कम या ज्यादा) का सेवन करें।
  • कोई भी सब्जी या फलों का जूस न लें
  • मधुमेह होने पर कच्चे चावल का सेवन करें
  • मूंग दाल को बनाने से पहले 45 मिनट के लिए पानी में भिगो दें
  • अत्यधिक कमजोरी होने पर 10-15 ग्राम पनीर (निर्देशानुसार), लेना
  • सब्जियों को अच्छी तरह उबाल कर पानी पीयें
  • यदि क्रिएटिनिन का स्तर 5.0 . से अधिक हो तो फलों का सेवन न करें

अधिक पढ़ें: मूंग दाल के फायदे और उपयोग

गुर्दा रोग में बचने के लिए भोजन

किडनी की बीमारी से पीड़ित लोगों को इनका सेवन नहीं करना चाहिए:-

  • दलिया जैसा व्यंजन, नया धान, मैदा
  • धड़कन, उड़द की दाल, काबुली ग्राम, मटर, फलियां, सोयाबीन
  • फल और सबजीया, कीवी, फलियां, टमाटर, किशमिश, तारीख, बेर, आलू, कटहल, बैंगन, अरबी ,गुआ,, भिंडी, जावा प्लम, आड़ू, कच्चा आम, केला
  • अन्य, तेल, गुड़, समोसा, पकौड़ा, पराठा, चाट, पापड़, नया अनाजखट्टा पदार्थ, सूखी सब्जियां, मालपुआ, छोला जैसे भारी खाद्य पदार्थ, ठंडा भोजन, दही, दूध से बनी सामग्री ,खोया, मावा, मांसाहारी, शराब धूम्रपान, बहुत ज्यादा नमक, तेल और मसालेदार भोजन, शहद, बेकरी उत्पाद

गुर्दे की बीमारी के लिए आहार योजना

गुर्दे की बीमारी के इलाज के दौरान दांतों को ब्रश करने के लिए सुबह उठें ,बिना धोए, पहले खाली पेट 1/4 एक गिलास गुनगुना पानी पिएं।

समय आहार योजना , शाकाहार,
नाश्ता (8 :30 -9:30 पूर्वाह्न)1/2 कप दूध , इडली ,सूजी)/1 पोहा का कटोरा, पतंजलि आरोग्य दलिया ,कम नमक ,समानता ,सूजी) / 1-2 पतली रोटी + 1 सब्जियों और पनीर का कटोरा (1-2) पिसना,
दिन का भोजन (01:30-02:30) अपराह्न1-2 पतली रोटियां ,पतंजलि मिश्रित अनाज का आटा) + 1 हरी सब्जियों का कटोरा + दाल का कटोरा ,मूंग दाल,
शाम का नाश्ता (दोपहर के तीन बजकर 30 मिनट)1/2 दूध का कटोरा , चुराना , मूंग दाल + 1/2 कप दूध
रात का खाना (08:00 – 09:00 अपराह्न)1 पतली रोटी ,पतंजलि मिश्रित अनाज का आटा) +1/2 हरी सब्जियों का कटोरा

सलाह, यदि रोगी को चाय की आदत है, तो इसके बजाय 1 कप पतंजलि दिव्य पेय दे सकते हो।

फाइबर खाद्य पदार्थ

गुर्दे की बीमारी के दौरान आपकी जीवनशैली

किडनी रोग में ऐसी होनी चाहिए आपकी जीवनशैली:-

  • पहले कियाखाना पचने से पहले खाना न खाएं।
  • ज्यादा व्यायाम न करें।
  • क्रोध, डर, बहुत जल्दी चिंता मत करो।
  • दिन में न सोएं
  • ज्यादा मत खाओ।

किडनी रोग में याद रखने योग्य बातें

किडनी रोग में आपको इन बातों का ध्यान रखना होगा:-

,1) प्रतिदिन ध्यान और योग का अभ्यास करें।

(2) ताजा और हल्का गर्म खाना ही खाना चाहिए।

(3) शांत, सकारात्मक और प्रसन्न मन से शांत स्थान पर धीरे-धीरे भोजन करें।

(4) दिन में तीन से चार बार भोजन अवश्य करें।

(5) किसी भी समय खाना न छोड़ें, और अत्यधिक भोजन से बचें

(6) सप्ताह में एक बार उपवास करें।

(7) पेट का 1/3/1/4 भाग खाली छोड़ दें।

(8) भोजन को ठीक से चबाकर धीरे-धीरे खाएं।

(9) खाना खाने के बाद 3-5 मिनट तक टहलें।

(10) सूर्योदय से पहले [5:30 – 6:30 am] उठो

(11) अपने दांतों को दिन में दो बार ब्रश करें।

(12) रोज जियो।

(13) खाना खाने के बाद थोड़ी देर टहलें।

(14) रात में सही समय पर [9-10 PM] सो जाओ

गुर्दे की बीमारी के दौरान योग और आसन

किडनी की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए आप कर सकते हैं ये योग और आसन:-,

  • योग प्राणायाम और ध्यान, bhastrika, अनुलोम विलोम, Bhramari, उदित, प्रणव जप.
  • आसन, दाह संस्कार, भुजंगासन, मकरासन, मर्कटासन, उत्तानपदास, पश्चिमोत्तानासन।

मकरासन लाभ

मकरासन लाभ

Read in English

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button